रविवार, 12 मार्च 2017

आज 12 मार्च 2017 से नजफगढ़ पुराना ककरौला रोड़ का नाम हुआ भाई भरत सिंह मार्ग

नवीन कुमार /नई दिल्ली :-आज 12 मार्च को दिल्ली नगर निगम के अंतर्गत नजफगढ़ पुराना ककरोला रोड का नामकरण पूर्व इनेलो विधायक भाई भरत सिंह के नाम पर किया गया जिसकी कुल लागत सवा सो करोड़ है ये ककरोला डैम तक बनाया जाएगा इस अवसर पर भारी जनसैलाब इक्कठा हुआ जो अपने नेता भरत सिंह को याद करने के लिए इक्कठे हुए थे इस मौके पर मुख्य अतिथि इनेलो सांसद श्री दुष्यंत चौटाला थे आज अजय सिंह चौटाला का भी जन्म दिवस है उन्हें भी जन्मदिवस और होली की शुभकामनाये उनके समर्थकों ने दी फिलहाल वे अभी जेल में बंद है उन्हें भी उनके समर्थको ने होली की और जन्मदिवस की शुभकामनाये दी आज भरत सिंह को उनके तीन साल बाद भी उतना ही याद करते है जितना उनको जीने से पहले करते थे नजफगढ़ जोन की चेयरमैन श्रीमती नीलम कृष्ण पहलवान ने कहा की भरत सिंह एक कम उम्र में इतने चर्चित होने वाले पहले नेता थे जो सबके दिलो पर राज करते है और करते रहेंगे उनकी पूर्ति इस जीवन में कर पाना असंभव है इस बार हम नजफगढ़ जोन की निगम की पांचो सीटो पर इनेलो काबिज होने जा रहे है जिससे की ज्यादा से ज्यादा लोगो के विकास कार्य करवा सके

शुक्रवार, 10 मार्च 2017

‘कूड़े से बिजली बनाने के संयत्र’ का केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वैंकया नायडू ने किया लोकार्पण Khabar Aapki

नवीन कुमार /नई दिल्ली :-केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री,. श्री वैंकया नायडू ने आज देश के सबसे बड़े व उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा विकसित अत्याधुनिक कूड़े से बिजली बनाने के संयंत्र का उद्घाटन डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविक सेंटर में स्थित केदारनाथ सहानी ऑडिटोरियम में किया। यह कूड़े से बिजली बनाने वाला संयंत्र नरेला बवाना में स्थित है। इस अवसर पर केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी मंत्री, डॉ हर्षवर्धन, स्थायी समिति के अध्यक्ष, श्री प्रवेश वाही, नेता सदन, श्री विजय प्रकाश पांडे, पर्यावरण एवं प्रबंधन समिति की अध्यक्ष सुश्री केशरानी, संयुक्त सचिव, केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय श्री प्रवीण प्रकाश व उत्तरी दिल्ली नगर निगम के आयुक्त, श्री प्रवीण गुप्ता व अन्य अधिकारीगण, रामकी गु्रप के श्री अयोध्या रामा रेड्डी भी उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता उत्तरी दिल्ली के महापौर डॉ संजीव नैय्यर ने की।
इस अवसर पर केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री वैंकया नायडू ने कहा कि ठोस कूड़े का निपटान व प्रबंधन हमारे देश के लिए सबसे बड़ी चुनौती है, उन्होंने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन को तब तक सफल नहीं बनाया जा सकता जब तक हम ठोस कूड़े के प्रबंधन नहीं कर लेते। उन्होंने कहा कि धर्मविद्ां,े शिक्षाविद्ों और फिल्मी हस्तीयों से लेकर खेल के क्षेत्र में सक्रिय लोगों को भी भागीदार बनाकर स्वच्छ भारत मिशन का प्रचार प्रसार किया जा रहा है ताकि आम नागरिकों के मानसिकता में परिर्वतन लाते हुए उन्हें इसके साथ जोड़ा जा सके। उन्होंने कहा कि नागरिकों की मानसिकता में आने वाला परिर्वतन ही विकास कार्यक्रमों को नई दिशा देता है और सफल बनाता है। उन्होंने उत्तरी दिल्ली नगर निगम को बधाई देते हुए कहा कि अब तक हमारे देश में 88 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है लेकिन उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा अकेले ही इस संयंत्र के माध्यम से 24 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जाएगा जो अपने आप में एक मिसाल है। श्री नायडू ने कहा कि पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप के तहत निर्मित यह संयंत्र नेशनल ग्रीन ट्ब्यूनल के द्वारा निर्धारित सभी मानदंडों को भी पूरा करता है।
उन्होंने कहा कि इस संयंत्र से न केवल 2000 मैट्रिक टन कूड़े का प्रबंधन होगा बल्कि बिजली के साथ ही खाद का भी निर्माण होगा। उन्होंने कहा कि यह नीजि व सरकारी उद्यमों के कार्य करने का सबसे अच्छा उदाहरण है, उन्होंने आशा व्यक्त की कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम देश के अन्य नगर निगमों के लिए एक उदाहरण बने।
केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रद्यौगिकी मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने इस अवसर पर कहा कि हमारे देश के लिए 55 मिलियन ठोस कूड़ा व 38 बिलियन सीवर का निष्पादन एक प्रमुख चुनौती है। उन्होंने कहा कि नरेला बवाना संयंत्र ठोस कूड़े के प्रबंधन की ओर बढ़ाया गया ठोस कदम है जिसमें 2000 मैट्रिक टन कूड़े से 24 मेगावाट बिजली का उत्पादन प्रतिदिन किया जाएगा जिसे आने वाले समय में और अधिक बढ़ाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि निगम द्वारा सभी विकास कार्यों को जनहित में छवि के विपरीत भी चुपचाप किये जा रहा है शहर में हो रहा विकास इसका सबसे बड़ा उदाहरण है। उन्होंने कहा कि पीपीपी मॉडल के तहत किये जा रहे इस विकास कार्य से आने वाले समय में भी नीजि व शासकीय क्षेत्रों को आपस में जोड़कर बिना किसी रूकावट के कार्य करने की प्रेरणा मिलेगी ताकि बड़े विकास के लक्ष्य को हासिल किया जा सके। यह पूरे देश के विभिन्न विभागों के लिए प्रेरणास्त्रोत का कार्य करेगा।
महापौर डॉ संजीव नैय्यर ने इस अवसर पर कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा तैयार किए गए इस ठोस कूड़े से बिजली बनाने के संयंत्र के सफलतापूर्वक लोकार्पण से मैं अत्यधिक प्रसन्नता का अनुभव कर रहा हूं। इस संयंत्र में अभी 2000 मैट्रिक टन कूड़े का निस्तारण होता है और आने वाले समय में इसे बढ़ाकर 4000 मैट्रिक टन किया जा सकेगा।
स्थायी समिति के अध्यक्ष श्री प्रवेश वाही ने कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम डिजिटलीकरण के क्षेत्र में तेजी से अग्रसर है, अब तक निगम द्वारा जन्म व मृत्यु प्रमाणपत्र, ट्ेड लाइसेंस, नक्शा पास करने की प्रक्रिया से लेकर संपत्तिकर के भुगतान को ऑनलाइन किया जा चुका है ताकि नागरिकों को किसी भी तरह की समस्या का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम का यह सपना है कि आने वाले समय में निगम द्वारा दी जा रही अधिकतर सुविधाओं का डिजिटलीकरण हो सके और लोगों को घर बैठे ऑनलाइन सुविधा प्राप्त हो सके।
सदन के नेता श्री विजय प्रकाश पांडे ने कहा इस तरह से तकनीकी क्षेत्र में विकास और कूड़े से बिजली बनाने के संयत्र के निर्माण के बाद वह दिन दूर नहीं जब आने वाले समय में नागरिकों को कूड़े के लिए भी राशि का भुगतान किया जाएगा।
निगमायुक्त श्री प्रवीण गुप्ता ने आगंन्तुकों का स्वागत करते हुए कहा कि यह उत्तरी निगम के लिए बहुत खुशी और गर्व की बात है कि इस विशाल व अत्याधुनिक कूड़े से बिजली बनाने के संयंत्र का आज लोकार्पण किया गया। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री श्री वैंकया नायडू का पूरे उत्तरी दिल्ली नगर की ओर से धन्यवाद ज्ञापित किया। श्री गुप्ता ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा इस संयंत्र का निर्माण बड़ा कदम है जिसमें वातावरण के अनूकूल ठोस कूड़े का निपटान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नरेला बवाना में पर्याप्त जमीन की उपलब्धता है जो हमें आने वाले समय में संयंत्र में बनने वाली 24 मेगावाट बिजली के उत्पादन को और अधिक करने के लिए सहायक सि़द्व होगी।
श्री गुप्ता ने कहा कि नरेला-बवाना में स्थित ठोस कूड़े से बिजली बनाने को पूर्णतः आधुनिक रूप में विकसित किया गया है जिसमें कूड़े से वातावरण को किसी भी प्रकार की हानि से बचाये रखने की पूरी सावधानियां बरती गई है। यह संयंत्र स्वच्छ भारत मिशन को सफल बनाने के लिए एक महत्वपूर्ण कदम है। उत्तरी दिल्ली नगर निगम और रामकी सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट सॉल्यूशन द्वारा इस पूरे परियोजना का निर्माण किया गया है।
रामकी सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट सॉल्यूशन के श्री अयोध्या रामारेड्डी ने कहा कि इस परियोजना में भागीदार बनकर उन्हें बेहद खुशी का अनुभव हो रहा है, यह परियोजना नीजि व शासकीय क्षेत्रों के द्वारा मिलकर कार्य करने के क्षेत्र में मिल का पत्थर साबित होगी।

गुरुवार, 9 मार्च 2017

कुलदीप नैय्यर पुरस्कार पत्रकार रवीश कुमार को मिलेगा :Khabar Aapki,Ravish Kumar

नवीन कुमार /नई दिल्ली :-वरिष्ठ एवं दिग्गज पत्रकार कुलदीप नैय्यर के नाम पर पुरस्कार शुरू किया गया है ,पहला पुरस्कार इलेक्ट्रोनिक मीडिया के जाने माने पत्रकार रवीश कुमार को दिया जाएगा .गांधी शान्ति प्रतिष्ठान हिंदी एवं भारतीय भाषाओं में मूल्यों पर आधारित पत्रकारिता करने वाले किसी सर्वोत्तम पत्रकार हर वर्ष यह पुरस्कार प्रदान किया जाएगा .पुरस्कार के तहत एक लाख रुपए की राशि प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह दिया जाएगा .रविश कुमार को यह सम्मान आगामी  19  मार्च को दिया जाएगा .इस पुरस्कार की घोषणा गुरूवार गांधी शान्ति प्रतिष्ठान के अध्यक्ष कुमार प्रशांत और समाज सेवी आशीष नंदी ने की इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैय्यर भी मौजूद थे  

गुरुवार, 26 जनवरी 2017

योग भारत की प्राचीन संस्कृति का गोरवमयी हिस्सा है :KHABAR AAPKI

khabar aapki/नवीन कुमार /डॉक्टर सुभाष छिम्पा :-योग भारत की प्राचीन संस्कृति का गोरवमयी हिस्सा है जिसकी वजह से भारत सदियों तक विश्व गुरु रहा है | योग एक ऐसी सुलभ एवं प्राकृतिक पद्धति है जिससे स्वस्थ मन एवं शरीर के साथ अनेक आध्यात्मिक लाभ प्राप्त किये जा सकते हैं | जिस योग को स्वामी रामदेव जी महाराज ने गुफाओं और कंदराओं से निकालकर आम जन तक पहुँचाया था उसी योग को प्रधानमंत्री श्री नरेंदर मोदी ने एक कदम आगे बढाकर विश्व पटल पर स्थापित कर दिया है। योगा मे उत्कृष्ट प्रदर्शन को लेकर आदर्श भारती इन्टरनैशनल स्कूल के छात्र राकेश जाखल को सम्मानित किया गया सन राईज सीनियर सकेण्ड़री स्कूल भूना की योगा की पूरी टीम जिला कार्यक्रम  अतिथिगणो  के साथ व  कोच विकास जाखल आदि सभी सम्मानित लोग इस अवसर पर काफी संख्या में उपस्थित थे 
Yoga in Hindi योग अपनाएं योग रहें निरोग
यह योग में विश्व का दृढ विश्वास ही है की जिसकी वजह से 21 जून को अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस ( International Yoga Day ) मनाये जाने के लिए संयुक्त राष्ट्र में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा रखे गये प्रस्ताव को 177 देशो ने अत्यंत सीमित समय में पारित कर दिया lयोग क्या है ?
योग शब्द संस्कृत की ‘युज’ धातु से बना है जिसका अर्थ है जोड़ना यानि शरीर,मन और आत्मा को एक सूत्र में जोड़ना |योग के महान ग्रन्थ पतंजलि योग दर्शन में योग के बारे में कहा गया है|
“ योगश्च चित्तवृत्ति निरोध : “ l
यानि मन की वृत्तियों पर नियंत्रण करना ही योग है lयोग के 10 फायदे
योग भारत की प्राचीन संस्कृति का गोरवमयी हिस्सा है जिसकी वजह से भारत सदियों तक विश्व गुरु रहा है | योग एक ऐसी सुलभ एवं प्राकृतिक पद्धति है जिससे स्वस्थ मन एवं शरीर के साथ अनेक आध्यात्मिक लाभ प्राप्त किये जा सकते हैं | जिस योग को स्वामी रामदेव जी महाराज ने गुफाओं और कंदराओं से निकालकर आम जन तक पहुँचाया था उसी योग को प्रधानमंत्री श्री नरेंदर मोदी ने एक कदम आगे बढाकर विश्व पटल पर स्थापित कर दिया है।
यानि मन की वृत्तियों पर नियंत्रण करना ही योग है 
मोटे से मोटे का भी पेट १५-२० दिन में कम हो जाता है! इसे एक ग्लास पानी में मिलाएं
मोटे से मोटे का भी पेट १५-२० दिन में कम हो जाता है! इसे एक ग्लास पानी में मिलाएं
घर पर तुरंत वजन कम करें! रोज ढाई किलो वजन कम करें खाली पेट में यह पीकर...
घर पर तुरंत वजन कम करें! रोज ढाई किलो वजन कम करें खाली पेट में यह पीकर...
खाली पेट दो चम्मच खाने से वज़न घटता है| १० दीनो मे १८ किलो वज़न घटा! क्लिक करे
खाली पेट दो चम्मच खाने से वज़न घटता है| १० दीनो मे १८ किलो वज़न घटा! क्लिक करे
गीता में कहा गया है – योग: कर्मसु कौशलम l
यानि कर्मों में कौशल या दक्षता ही योग है।
योग के 10 फायदे  / Benefits of Yoga in Hindi

1) योग का प्रयोग शारीरिक , मानसिक और आध्यत्मिक लाभों के लिए हमेशा से होता रहा है l आज की चिकित्सा शोधों ने ये साबित कर दिया है की योग शारीरिक और मानसिक रूप से मानवजाति के लिए वरदान है |
2) जहाँ जिम आदि से शरीर के किसी खास अंग का ही व्यायाम होता है वहीँ योग से शरीर के समस्त अंग प्रत्यंगों,ग्रंथियों का व्यायाम होता है जिससे अंग प्रत्यंग सुचारू रूप से कार्य करने लगते हैं |
3) योगाभ्यास से रोगों से लड़ने की शक्ति बढती है | बुढ़ापे में भी जवान बने रह सकते हैं त्वचा पर चमक आती है शरीर स्वस्थ,निरोग और बलवान बनता है |
4) जहाँ एक तरफ योगासन मांस पेशियों को पुष्टता प्रदान करते हैं जिससे दुबला पतला व्यक्ति भी ताकतवर और बलवान बन जाता है वहीँ दूसरी ओर योग के नित्य अभ्यास से शरीर से फैट कम भी हो जाता है इस तरह योग कृष और स्थूल दोनों के लिए फायदेमंद है |
5) योगासनों के नित्य अभ्यास से मांसपेशियों का अच्छा व्यायाम होता है | जिससे तनाव दूर होकर अच्छी नींद आती है, भूख अच्छी लगती है, पाचन सही रहता है|
6) प्राणायाम के लाभ – योग के अंग प्राणायाम एवं ध्यान भी योगासनों की तरह शरीर के लिए बहुत फायदेमंद हैं, प्राणायाम के द्वारा श्वास प्रश्वास की गति पर नियंत्रण होता है जिससे श्वसन संस्थान सम्बन्धित रोगों में बहुत फायदा मिलता है | दमा, एलर्जी, साइनोसाइटिस,पुराना नजला, जुकाम आदि रोगों में तो प्राणायाम बहुत फायदेमंद है ही साथ ही इससे फेफड़ों की ऑक्सीजन ग्रहण करने की क्षमता बढ़ जाती है जिससे शरीर की कोशिकाओं को ज्यादा ऑक्सीजन मिलने लगती है जिसका पूरे शरीर पर सकारात्मक असर पड़ता है |
7) ध्यान के लाभ – ध्यान भी योग का अतिमहत्वपूर्ण अंग है | आजकल ध्यान यानि मेडिटेशन का प्रचार हमारे देश से भी ज्यादा विदेशों में हो रहा है आज की भौतिकता वादी संस्कृति में दिन रात भाग दौड़, काम का दबाव, रिश्तो में अविश्वास आदि के कारण तनाव बहुत बढ़ गया है | ऐसी स्तिथि में मेडिटेशन से बेहतर और कुछ नहीं है ध्यान से मानसिक तनाव दूर होकर गहन आत्मिक शांति महसूस होती है, कार्य शक्ति बढती है ,नींद अच्छी आती है | मन की एकाग्रता एवं धारणा शक्ति बढती है |
8) योग से ब्लड शुगर का लेवल घटता है और ये LDL या बैड कोलेस्ट्रोल को भी कम करता है। डायबिटीज रोगियों के लिए योग बेहद फायदेमंद है। ये भी पढ़ें : कैसे करें डायबिटीज कंट्रोल ?
9) कुछ अध्यनों में पाया गया है कि कुछ योगासनो और मैडिटेशन के द्वारा आर्थराइटिस, बैक पेन आदि दर्द में काफी सुधार होता है और दवा जी ज़रुरत कम होती जाती है।
10) योग शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है और दवाओं पर आपकी निर्भरता को घटता है।  बहुत सी स्टडीज में साबित हो चुका है कि अस्थमा , हाई ब्लड प्रेशर , टाइप २ डायबिटीज के मरीज योग द्वारा पूर्ण रूप से स्वस्थ हो चुके हैं।संक्षेप में कहें तो योग केवल शारीरिक व्यायाम करने या रोगों को दूर करने वाली क्रिया नहीं है बल्कि जीवन को बेहतर बनाने वाली एक जीवन पद्यति है 
योगा मे उत्कृष्ट प्रदर्शन को लेकर आदर्श भारती इन्टरनैशनल स्कूल के छात्र  राकेश जाखल को सम्मानित करते हुए 

भारत में 68वें गणतंत्र दिवस का जश्न पुरे भारत में :khabar aapki

khabar aapki/नवीन कुमार /डोक्टर सुभाष छिम्पा :- इस मौके पर अबु धाबी के शहज़ादे मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान बतौर मुख्य अतिथि दिल्ली पहुंचे हैं.
संयूक्त अरब अमीरात के सेना की 144 जवानों की टुकड़ी ने भी इस गणतंत्र दिवस पर राजपथ पर मार्च किया. बताया जा रहा है कि यह पहली बार राजपथ पर परेड में किसी दूसरे देश की सेना हिस्सा ले रही है.
कुछ और मुख्य बातें
सेना के हवलदार हंगपन दादा को मरणोपरांत अशोक चक्र से सम्मानित किया गया. राष्ट्रपति ने दादा की पत्नी को यह सम्मान दिया.
विंग कमांडर रमेश कुमार दूबे के नेतृत्व में परेड की शुरुआत हुई.
पहली बार 100 एनएसजी कमांडो दस्ते ने गणतंत्र दिवस समारोह में हिस्सा लिया.
चार एमआई-17 हेलिकॉप्टरों ने आकाश से पुष्प वर्षा की.
भारत के एकमात्र कैवेलरी का अपने प्रतापी घोड़ों के साथ मार्च, इस बार परेड का सबसे बड़ा आकर्षण रहा.
परेड में पहली बार देश में बनी तोप 'धनुष' भी दिखा दी.
25 राष्ट्रीय बहादुरी पुरस्कार पाए बच्चे भी गणतंत्र दिवस परेड का हिस्सा बने. आज हरियाणा के डिस्ट्रिक्ट फतेहाबाद के गाँव आरोरी पब्लिक स्कूल में 68 वें गणतंत्र दिवस पर आरोरी पब्लिक स्कूल की होनहार छात्रा कविता छिम्पा ने धवजारोहण किया  हरियाणा के मुख्यमंत्री  मनोहर लाल कल पंचकूला में
ध्वजारोहण के बाद अंत्योदय आहार योजना का शुभारंभ करेंगे। इसके साथ ही,
पंचकूला इस योजना को लागू करने वाला हरियाणा का पहला जिला बन जाएगा।  इस योजना
का उद्देश्य मात्र दस रुपये में ऐसे लोगों को पौष्टिक व उत्तम भोजन उपलब्ध
करवाना है, जो दिनभर मेहनत करते हैं और जिनके पास समय व संसाधनों की कमी है।
एक सरकारी प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री पहले
युद्ध वीरों को श्रद्धांजलि देंगे और सामान्य अस्पताल में मरीजों को फल भी
 बांटेंगे।
उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 1 नवंबर, 2016 को
अंत्योदय आहार योजना की घोषणा की थी। इसके बाद हरियाणा सरकार ने भी प्रदेश के
सभी जिलों में इस योजना को लागू करने का निर्णय लिया था। उन्होंने बताया कि
पंचकूला में अंत्योदय आहार योजना जिला रेड क्रांस सोसाइटी व माता मनसा देवी
पूजा स्थल बोर्ड, पंचकूला द्वारा चलाई जाएगी। इस योजना के तहत भोजन बिना
लाभ-हानि के मात्र 10 रुपये में उपलब्ध करवाया जाएगा। खाने में 6 रोटी, 150
ग्राम सब्जी व आचार रखा गया है, जिससे किसी भी व्यक्ति का पेट आसानी से भर
सकता है।
प्रवक्ता ने बताया कि इस योजना के तहत उन स्थानों तक खाना पहुंचाया जाएगा,
जहां मजदूर काफी संख्या में रहते हैं। पूरे सप्ताह ताजा भोजन पहुंचाने के लिए
तीन गाडिय़ों की व्यवस्था भी की गई है।
उन्होंने बताया कि इस योजना में आम नागरिक भी भागीदार हो सकते हैं। वे अपने
जन्म दिन और वर्षगांठ जैसे अवसरों पर अपनी ओर से भोजन बनवा सकते हैं। इससे
समाज में एक अच्छा संदेश जाएगा और यह योजना अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकेगी।
68 वे गणतंत्र दिवस पर स्कूल की छात्रा कविता छिम्पा झंडा फहराते हुए 

शुक्रवार, 20 जनवरी 2017

no investment earn unlimited india based company regd by govt of india above one crore doing this buisness

ENGLISH--no investment earn unlimited india based company regd by govt of india above one crore doing this buisness
HINDI
मार्केटिंग प्लान
(w.e.f. 1st Nov. 2012)
परिभाषाएँ :-
बिजनस वोल्यूम (B.V.):
हर उत्पाद की वह वेल्यू जिस पर विक्रय प्रोत्साहन राशि की गणना होती है। यह उत्पादों के विक्रय मूल्य के बराबर या विक्रय मूल्य से भिन्न भी हो सकता हैए जिसकी सूचना समय.समय पर कम्पनी द्वारा वेबसाइट पर दी जाती है। बिजनस वोल्यूम में समय.समय पर कम्पनी द्वारा परिवर्तन भी किया जा सकता है।
मेन लेग (समूह) व अन्य लेग (समूह) :-
डायरेक्ट सेलर का जिस लेग (समूह) का बिजनस वोल्यूम सबसे ज्यादा होता है, उसे मेन लेग (समूह) कहा जाता है। उस लेग (समूह) के अतिरिक्त लेगों (समूह) को मिलाकर अन्य लेग (समूह) कहा जाता है। अलग-अलग माह में मेन लेग (समूह) अलग-अलग हो सकती है।
विक्रय प्रोत्साहन राशि की डिफरेन्स आधार पर गणना :-
डायरेक्ट सेलर के पूरे समूह की विक्रय प्रोत्साहन राशि में से डाउनलार्इन समूह की विक्रय प्रोत्साहन राशि को घटाकर नेट विक्रय प्रोत्साहन राशि निकाली जाती है, इसे डिफरेन्स आधार पर गणना कहते हैं। जिन डायरेक्ट सेलर्स की किसी भी कारणवश विक्रय प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने की पात्रता समाप्त हो जाती है, उनकी विक्रय प्रोत्साहन राशि को डिफरेन्स आधार पर गणना करते समय गणना से पृथक नहीं किया जायेगा।
प्रपोजर :-
जो डायरेक्ट सेलर नए व्यक्तियों को अपने समूह में डायरेक्ट सेलर बनने के लिए प्रपोज करता है उसको प्रपोजर कहा जायेगा |
स्पॉन्सर :-
नए आवेदक के सबसे प्रथम अपलाइन को स्पॉन्सर कहा जायेगा |
डायरेक्ट सेलर बनने का तरीका :-
किसी भी वर्तमान डायरेक्ट सेलर को प्रपोजर के रूप में रखते हुए डायरेक्ट सेलर बनने हेतु निर्धारित आवेदन पत्र इन्टरनेट के माध्यम से दर्ज करना है व उसका एक प्रिंट आउट निकालकर उस पर आवेदक व दो गवाहों के हस्ताक्षर करके आवश्यक दस्तावेजों के साथ कम्पनी के कार्यालय में भेजना है।
डायरेक्ट सेलर द्वारा आवेदन पत्र के साथ भेजे जाने वाले आवश्यक दस्तावेजों की सूची :-
दो रंगीन फोटो पासपोर्ट सार्इज (फोटो के पीछे आवेदक का नाम व पिता/पति का नाम लिखें)
फोटो पहचान पत्र के लिए निम्न में से कोई एक दस्तावेज की स्वप्रमाणित छायाप्रति:-
पासपोर्ट (प्रामाणिक)
पेन कार्ड
मतदाता पहचान पत्र
ड्राइविंग लाइसेन्स (प्रामाणिक)
बैंक द्वारा जारी प्रमाणित फोटो पहचान पत्र
मूल निवासी प्रमाण पत्र मय संचार पते एवं फोटो के साथ
केन्द्र/राज्य सरकार द्वारा प्रमाणित फोटो पहचान पत्र
निम्न में से किसी एक अधिकारी द्वारा प्रमाणित पत्र (फोटो सहित)
पंचायत प्रधान
पार्षद
ग्राम पंचायत का सरपंच
पता प्रमाण पत्र के लिए निम्न में से कोई एक दस्तावेज की स्वप्रमाणित छायाप्रति :-
टेलीफोन बिल जो 6 महिने से ज्यादा पुराना नहीं हो
बैंक अकाउन्ट स्टेटमेन्ट (बैंक द्वारा प्रमाणित) 6 महिने से ज्यादा पुराना नहीं हो
बिजली का बिल जो 6 महिने से ज्यादा पुराना नहीं हो
राशन कार्ड
पासपोर्ट (प्रामाणिक)
ड्रार्इविंग लाइसेन्स (प्रामाणिक)
मतदाता पहचान पत्र
बैंक द्वारा जारी प्रमाणित फोटो पहचान पत्र
किरायानामा, किराये की रसीद के साथ जो 3 महिने से पुरानी नहीं हो
वर्तमान नियुक्ता प्रमाण पत्र जिसमें निवास पता अंकित हो
मूल निवासी प्रमाण पत्र मय संचार पते एवं फोटो के साथ
केन्द्र/राज्य सरकार द्वारा प्रमाणित पता प्रमाण पत्र
अवधि उपरांत पासपोर्ट पता प्रमाण पत्र के रूप में मान्य नहीं होगा, पहचान पत्र के रूप में स्वीकार किया जा सकता है।
बैंक खाता संख्या के प्रमाण के लिए निरस्त किया हुआ हस्ताक्षर सुदा एक आरिजनल चैक जिसमें कि खाताधारक का नाम प्रिन्ट हो या बैंक द्वारा जारी व प्रमाणित किया हुआ आरिजनल बैंक स्टेटमेन्ट।
पेन कार्ड (PAN Card) की छायाप्रति।

डायरेक्ट सेलर के रूप में रजिस्ट्रेशन करवाने का कोई भी चार्ज/फीस नहीं है आवेदन पत्र व दस्तावेजों की जाँच के पश्चात आवेदन स्वीकार किये जाने पर आवेदक को डायरेक्ट सेलर का यूनिक आईडी/ट्रेक आईडी नंबर वेबसाइट पर दर्शाया जाएगा। आईडी नम्बर प्राप्त करने के पश्चात डायरेक्ट सेलर को अपना आईडी कार्ड वेबसाइट पर लॉग इन कर के अपनी पर्सनल इन्फोरमेशन से प्राप्त करना होगा।
किसी भी नए व्यक्ति को स्पॉन्सर करने की पात्रता प्रपोजर व स्पॉन्सर को न्यूनतम एक हजार की खरीद करने के उपरांत ही प्राप्त होगी |यह खरीद अलग-अलग टुकडों में भी की जा सकती है । यदि कोई प्रपोजर या स्पॉन्सर यह शर्त पूरी नहीं करता/करती है तो उसे स्पोन्सरिंग का अधिकार नहीं मिलेगा। वह डायरेक्ट सेलर प्रोडक्ट खरीद कर मार्केटिंग प्लान के अनुसार परफोरमेन्स बोनस प्राप्त कर सकता/सकती है।
एक डायरेक्ट सेलर अपनी स्वेच्छा से कितने भी लोगों को स्पोंसर कर सकता/सकती है। जो स्पॉन्सर डायरेक्ट सेलर नहीं है वह एक नए व्यक्ति को स्पोंसर कर सकता/सकती है। लेकिन उसको सभी लाभ डायरेक्ट सेलर बनने के बाद ही प्रदान किये जायेंगे |
विक्रय प्रोत्साहन राशि की गणना :-
विक्रय प्रोत्साहन राशि की गणना डायरेक्ट सेलर व उसके समूह द्वारा खरीद की गयी बिजनस वोल्यूम पर निश्चित प्रतिशत के आधार पर की जाती है जिसका विवरण नीचे दिया गया है :-
बी.वी. का 32% तक परफोरमेन्स बोनस डिफरेन्स आधार पर
बी.वी. का 8% तक रोयल्टी बोनस डिफरेन्स आधार पर
बी.वी. का 5% तक टेक्नीकल बोनस डिफरेन्स आधार पर
परफोरमेन्स बोनस :-
बिजनस वोल्यूम प्रतिशत
100 से 4999 तक 10%
5000 से 9999 तक 12%
10000 से 19999 तक 14%
20000 से 39999 तक 16.5%
40000 से 69999 तक 19%
70000 से 114999 तक 21.5%
115000 से 169999 तक 24%
170000 से 259999 तक 26.5%
260000 से 349999 तक 29%
350000 से अधिक 32%
उदाहरण 1 :-
बिजनस की स्थिति
मेन लेग (समूह)में खरीद - 80,000 B.V.
अन्य लेग/लेगों(समूह)में खरीद - 33,000 B.V.
स्वयं की खरीद - 2,000 B.V.
कुल बिजनस वोल्यूम - 1,15,000 B.V.
परफोरमेन्स बोनस की गणना :-
कुल समूह का बोनस 1,15,000 x 24% = 27,600/-
घटाएं मेन लेग (समूह) का बोनस 80,000 x 21.5% = 17,200/-
घटाएं अन्य लेग लेगों (समूह) का बोनस) 33,000 x 16.5% = 5,445/-
नेट परफोरमेन्स बोनस = 4,955/-
उदाहरण 2 :-
बिजनस की स्थिति
मेन लेग (समूह)में खरीद - 1,18,000 B.V.
अन्य लेग/लेगों(समूह)में खरीद - 52,000 B.V.
स्वयं की खरीद - 2,000 B.V.
कुल बिजनस वोल्यूम - 1,72,000 B.V.
परफोरमेन्स बोनस की गणना
कुल समूह का बोनस 1,72,000 x 26.5% = 45,580/-
घटाएं मेन लेग (समूह) का बोनस 1,18,000 x 24% = 28,320/-
घटाएं अन्य लेग लेगों (समूह) का बोनस) 52,000 x 19% = 9,880/-
नेट परफोरमेन्स बोनस = 7,380/-
ये उदाहरण गणना को समझने के लिए दिये गये हैं।
नोट : परफोरमेन्स बोनस उन्हीं डायरेक्ट सेलर्स को दिया जायेगा जो सम्बन्धित माह में स्वयं भी कम से कम 100 बी.वी. की आर.सी.एम. उत्पादों की खरीद करते हैं अथवा यह खरीद वे सम्बन्धित माह की समाप्ति के 30 दिनों के भीतर कर लेते हैं। बोनस की गणना मासिक आधार पर व डिफरेन्स आधार पर समूह के कुल परफोरमेन्स बोनस में से डाउनलार्इन का परफोरमेन्स बोनस घटाकर की जायेगी।
रोयल्टी :
मुख्य लेग (समूह) का बी.वी.
अन्य लेग (समूह) का बी.वी.
रोयल्टी मुख्य लेग (समूह)
के बी.वी. पर
3,50,000 या इससे ज्यादा 1,15,000 या इससे ज्यादा 3%
3,50,000 या इससे ज्यादा 1,70,000 या इससे ज्यादा 4.5%
3,50,000 या इससे ज्यादा 2,60,000 या इससे ज्यादा 6%
3,50,000 या इससे ज्यादा 3,50,000 या इससे ज्यादा 8%
नोट :
रोयल्टी उन्हीं डायरेक्ट सेलर्स को दी जायेगी जो सम्बन्धित माह में स्वयं भी कम से कम 1500 बी.वी. के आर.सी.एम. उत्पादों की खरीद करते हैं अथवा यह खरीद वे सम्बन्धित माह की समाप्ति के 30 दिनों के भीतर कर लेते हैं।
रोयल्टी की गणना डिफरेन्स आधार पर कुल रोयल्टी में से डाउनलार्इन की रोयल्टी घटाकर की जायेगी।
रोयल्टी की गणना मासिक आधार पर की जायेगी।
यदि किसी डायरेक्ट सेलर की मेन लेग (समूह) के अलावा अन्य किसी लेग (समूह) का बी.वी. 3,50,000 या उससे ज्यादा है तो उसे सैकण्ड लेग (समूह) कहा जायेगा व यदि मेन लेग (समूह) व सैकण्ड लेग (समूह) के अलावा अन्य लेग/लेगों (समूह) का बी.वी. 1,15,000 या उससे ज्यादा होता है तो सैकण्ड लेग (समूह) पर भी उपरोक्त स्लेब के अनुसार रोयल्टी मिलेगी।
टेक्नीकल बोनस :
मुख्य लेग (समूह) का बी.वी.
अन्य लेग (समूह) का बी.वी.
टेक्नीकल बोनस मुख्य लेग (समूह)
के बी.वी. पर
5,00,000 या इससे ज्यादा 500000 या इससे ज्यादा 1%
10,00,000 या इससे ज्यादा 1000000 या इससे ज्यादा 1.75%
22,00,000 या इससे ज्यादा 2200000 या इससे ज्यादा 2.50%
48,00,000 या इससे ज्यादा 4800000 या इससे ज्यादा 3%
10000000 or या इससे ज्यादा 10000000 या इससे ज्यादा 3.50%
20000000 या इससे ज्यादा 20000000 या इससे ज्यादा 4%
50000000 या इससे ज्यादा 50000000 या इससे ज्यादा 4.50%
100000000 या इससे ज्यादा 100000000 या इससे ज्यादा 4.75%
250000000 या इससे ज्यादा 250000000 या इससे ज्यादा 5%
नोट :
टेक्नीकल बोनस उन्हीं डायरेक्ट सेलर्स को दिया जायेगा जो सम्बन्धित माह में स्वयं भी कम से कम 1500 बी.वी. के आर.सी.एम. उत्पादों की खरीद करते हैं अथवा यह खरीद वे सम्बन्धित माह की समाप्ति के 30 दिनों के भीतर कर लेते हैं।
टेक्नीकल बोनस की गणना डिफरेन्स आधार पर कुल टेक्नीकल बोनस में से डाउनलार्इन का टेक्नीकल बोनस घटाकर की जायेगी।
टेक्नीकल बोनस की गणना मासिक आधार पर की जायेगी।
टेक्नीकल बोनस की पात्रता के लिए किन्हीं लगातार 3 माह में 8% रोयल्टी होनी चाहिए।
यदि किसी डायरेक्ट सेलर की मेन लेग (समूह) के अलावा अन्य किसी लेग (समूह) का बी.वी. 5,00,000 या उससे ज्यादा है तो उसे सैकण्ड लेग (समूह) कहा जायेगा व यदि मेन लेग (समूह) व सैकण्ड लेग (समूह) के अलावा अन्य लेग/लेगों (समूह) का बी.वी. 5,00,000 या उससे ज्यादा होता है तो सैकण्ड लेग (समूह) पर भी उपरोक्त स्लेब के अनुसार टेक्नीकल बोनस मिलेगा।
शर्तें :-
असामान्य कारणों को छोड़कर विक्रय प्रोत्साहन की देय राशि की गणना सम्बन्धित माह की अंतिम तिथि के बाद 40 दिनों के भीतर की जायेगी।
विक्रय प्रोत्साहन राशि का भुगतान गणना की समाप्ति के पश्चात 90 दिनों के भीतर किया जायेगा। यदि किसी डायरेक्ट सेलर की कुल देय विक्रय प्रोत्साहन राशि 500रु. से कम रहती है तो उसका भुगतान विक्रय प्रोत्साहन राशि के प्रथम उपार्जन तिथि से एक वर्ष के भीतर सम्पूर्ण उपार्जित राशि का एक मुश्त किया जायेगा।
विक्रय प्रोत्साहन राशि का भुगतान किसी एक बैंक प्रणाली (NEFT/RTGS/ INTER BANKING TRANSFER) से किया जाता है, इसके लिए डायरेक्ट सेलर का स्वयं का सही बैंक खाता संख्या व सम्बनिधत बैंक आर्इएफएस कोड दर्ज होना आवश्यक है।
डायरेक्ट सेलर द्वारा डायरेक्ट सेलिंग की शर्तों का पालन नहीं करने या डायरेक्ट सेलर द्वारा उत्पन्न किन्हीं कारणों से विक्रय प्रोत्साहन राशि का भुगतान यदि बाधित होता है तो उसकी समस्त जिम्मेदारी डायरेक्ट सेलर की होगी।
आरसीएम से खरीदे गये उत्पाद में यदि कोर्इ दोष पाया जाता है तो ऐसे उत्पाद को खरीद दिनांक से 30 दिन के अन्दर वापस किया जा सकता है। उसके बदले अन्य उत्पाद या राशि वापस ली जा सकती है। उत्पाद वापसी के समय खरीद किया हुआ बिल प्रस्तुत करना आवश्यक है। उत्पाद किसी भी तरह से क्षतिग्रस्त नहीं होना चाहिए व उसकी गुणवत्ता खरीद किये गये समय की गुणवत्ता से किसी भी प्रकार से भिन्न नहीं होनी चाहिए। contact:-naveen kumar (journalist) 9899106615 live in delhi email-naveenkumarreporter@gmail.coM
no investment earn unlimited india

बुधवार, 18 जनवरी 2017

संत नामदेव धर्मशाला में बसंत पंचमी समारोह 1फरवरी 2017 को Khabar Aapki

संत नामदेव धर्मशाला में बसंत पंचमी समारोह 1 को
हिसार। संत शिरोमणि नामदेव चैरिटेबल ट्रस्ट के तत्वाधान में 1 फरवरी को बसंत पंचमी के उपलक्ष्य में संत नामदेव का वि_ल दर्शन दिवस एवं समाज मिलन समारोह संत नामदेव धर्मशाला, सिरसा रोड़ में बड़ी धूमधाम से मनाया जाएगा। ट्रस्ट के प्रेस सचिव अम्बिका प्रसाद ने बताया कि प्रात: 8 बजे हवन के साथ शुरू होने वाले समारोह में मुख्यातिथि के रूप में हरिकेश खत्ती, लांधड़ी वाले भाग लेंगे। अध्यक्षता सूबेदार प्रेमसिंह अग्रोईया करेंगे। विशिष्ट अतिथि एसएसपी पतराम सिंह, एचसीएस पी.डी. वर्मा, पार्षद मा. प्रहलाद सिंह, पूर्व चेयरमैन सतबीर वर्मा, डीएसपी जगदीश अगोईया, डीएसपी कृष्ण अग्रोईया, एक्सईन प्रेम कुमार बागड़ी, सुशील कुमार वर्मा, मेहताप ईश्वर सिंह रोहिल्ला, समाजसेवी मोतीराम रत्न व मुंढाल के सरपंच विरेन्द्र सिंह होंगे।
समारोह में नामदेव समाज के मेधावी बच्चों जिन्होंने वार्षिक परीक्षा 2016 में दसवीं, बारहवीं में 75 प्रतिशत या इससे अधिक अंक प्राप्त किए हों, समाज के जिन बच्चों ने वर्ष 2016 में मेडिकल, इंजीनियरिंग, बीसीए, एमसीए एवं विज्ञान में स्नातक, स्नातकोत्तर एवं पीएचडी डिग्री प्राप्त की हो, उन्हें सम्मानित किया जाएगा। समारोह के दौरान डा. रोहित सागु सर्जन की टीम द्वारा फ्री मेडिकल कैम्प का आयोजन किया जाएगा जिसमें सामान्य रोग विशेषज्ञ, स्त्री रोग विशेषज्ञ, शिशुरोग विशेषज्ञ, नेत्र रोग विशेषज्ञ, फिजियोथेरेपिस्ट एवं आयुर्वेद चिकित्सक अपनी सेवाएं देंगे।
संत नामदेव धर्मशाला में बसंत पंचमी समारोह 1फरवरी 2017 को  Khabar Aapki

मंगलवार, 17 जनवरी 2017

समाज में रह रहे दिव्यांग लोगो को आत्मनिर्भर बनायेगे :नवीन कोटिया :khabar aapki

नई दिल्ली /नवीन कुमार :नजफगढ़ यादव भवन में स्किल devlopment ट्रेनिंग प्रोग्राम फॉर handicaped का आयोजन नेशनल यूथ प्रोजेक्ट दिल्ली ,नजफगढ़ यूनिट की तरफ से किया गया ,प्रयोजककर्ता :-अली युवार जंग नेशनल इंस्टिट्यूट फॉर handicaped ,मुंबई के सहयोग से किया गया .इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में दिव्यांग लोगों को जो की अनुसूचित जाति ,पिछड़े वर्गों व् गरीब की श्रेणी में आते है उनको आचार -जैम ,मार्केटिंग करना ,पैकिंग करना आदि की ट्रेनिंग सिखाई जायेगी ,ओर बमक से लोन दिलाकर उनको आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया जाएगा.नजफगढ़ में इस तरह का पहला प्रयास किया जा रहा है ट्रेनिंग देने के लिए सावित्री पिकल्स कंपनी की संचालिका श्रीमती सावित्री देवी खुद अपना योगदान देगी. साथ ही समय  समय पर कृषि विज्ञानं केंद्र उजवा का भी मार्गदर्शन इन दिव्यांग लोगो  को दिया जाएगा .इस कार्यक्रम का उद्घाटन नेशनल यूथ प्रोजेक्ट दिल्ली ,से श्री अशोक सरन जी के द्वारा किया गया और कार्यक्रम का आयोजन व् संचालन नवीन कोटिया ,यूनिट कोडीनेटर ने किया ,व् सहयोग के रूप में श्री प्रीत सिंह ,रुक्मणी ,पिंकी रहनावत ,कोशल ,पिंकी शर्मा ,संतोष कुमार मोजूद थे
समाज में रह रहे दिव्यांग लोगो को आत्मनिर्भर बनायेगे :नवीन कोटिया 

पाँचों राज्यों में पुरे दमखम से चुनाव लड़ेगी "फौजी जनता पार्टी "FJP( FOUJI JANTA PARTY)

नई दिल्ली/नवीन कुमार /दया राम :देश की सीमाओं की हिफाजत से लेकर देश की विभिन्न विपत्तियों में संकटमोचक की भूमिका निभाने वाले सैनिक अब राजनीती के दंगल में भी ताल ठोकते नज़र आएंगे। दरअसल, देशभर के भूतपूर्व सैनिकों ने मिलकर "फौजी जनता पार्टी" (एफजेपी) बनाई है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरएम मालिक ने मकर सक्रांति के मौके पर इस पार्टी को लॉन्च करते हुए ये ऐलान किया।
आरएम मलिक ने इस अवसर पर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि देश के मौजूद हालातों और सरकारों की अनदेखी और लापरवाह रवैये के चलते ही सैनिक अब राजनीती में उतरने के लिए भी मजबूर हो गए हैं। इसकी शुरुआत अगले महीने पांच राज्यों गोआ, पंजाब, मणिपुर, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव से होगी।
उन्होंने बताया कि पार्टी इन पाँचों राज्यों में 50 से अधिक सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। इसके बाद दिल्ली में नगर निगम चुनाव की बारी आएगी। निगम चुनाव में वे सभी सीटों पर एफजेपी के उम्मीदवार उतारेंगे। पार्टी का चुनाव चिन्ह चकला-बेलन रहेगा। क्योंकि ये चिन्ह हर घर की जरुरत है।
उन्होंने हाल में सोशल मीडिया में वायरल हुए सैनिकों संबंधी विडियोज़ का समर्थन करते हुए इसे बिलकुल सही ठहराया। उन्होंने कहा कि सेना में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने ये सब अनुभव किया है। सोशल मीडिया से सुर्ख़ियों में छाने वाले जवान तेज बहादुर को उन्होंने पार्टी में शामिल होने का न्यौता तो दिया ही, साथ ही जरुरत होने पर चुनाव लड़ने की पेशकश भी की। जवानों के लिए एंड्राइड फ़ोन और सोशल मीडिया के इस्तेमाल पर रोक लगाने को उन्होंने सरासर गलत करार दिया।
उन्होंने बताया कि चुनाव में उनके मुद्दों में मुख्या रूप से भ्रष्टाचार पर रोक, सैनिकों और भूतपूर्व सैनिकों के लिए सुविधाओं पर ज़ोर, महिलाओं को 33 फीसदी के बजाये बराबरी की भागीदारी, युवाओं को प्रोत्साहन और किसानों को खेती के लिए बढ़ावा और बेहतर सुविधाएँ उपलब्ध कराना प्रमुख रूप से शामिल रहेगा।
देश की सीमाओं की हिफाजत से लेकर देश की विभिन्न विपत्तियों में संकटमोचक की भूमिका निभाने वाले सैनिक अब राजनीती के दंगल में भी ताल ठोकते नज़र आएंगे। दरअसल, देशभर के भूतपूर्व सैनिकों ने मिलकर "फौजी जनता पार्टी" (एफजेपी) बनाई है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरएम मालिक ने मकर सक्रांति के मौके पर इस पार्टी को लॉन्च करते हुए ये ऐलान किया।
आरएम मालिक ने इस अवसर पर आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि देश के मौजूद हालातों और सरकारों की अनदेखी और लापरवाह रवैये के चलते ही सैनिक अब राजनीती में उतरने के लिए भी मजबूर हो गए हैं। इसकी शुरुआत अगले महीने पांच राज्यों गोआ, पंजाब, मणिपुर, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव से होगी।
उन्होंने बताया कि पार्टी इन पाँचों राज्यों में 50 से अधिक सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी। इसके बाद दिल्ली में नगर निगम चुनाव की बारी आएगी। निगम चुनाव में वे सभी सीटों पर एफजेपी के उम्मीदवार उतारेंगे। पार्टी का चुनाव चिन्ह चकला-बेलन रहेगा। क्योंकि ये चिन्ह हर घर की जरुरत है।
उन्होंने हाल में सोशल मीडिया में वायरल हुए सैनिकों संबंधी विडियोज़ का समर्थन करते हुए इसे बिलकुल सही ठहराया। उन्होंने कहा कि सेना में अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने ये सब अनुभव किया है। सोशल मीडिया से सुर्ख़ियों में छाने वाले जवान तेज बहादुर को उन्होंने पार्टी में शामिल होने का न्यौता तो दिया ही, साथ ही जरुरत होने पर चुनाव लड़ने की पेशकश भी की। जवानों के लिए एंड्राइड फ़ोन और सोशल मीडिया के इस्तेमाल पर रोक लगाने को उन्होंने सरासर गलत करार दिया।
उन्होंने बताया कि चुनाव में उनके मुद्दों में मुख्या रूप से भ्रष्टाचार पर रोक, सैनिकों और भूतपूर्व सैनिकों के लिए सुविधाओं पर ज़ोर, महिलाओं को 33 फीसदी के बजाये बराबरी की भागीदारी, युवाओं को प्रोत्साहन और किसानों को खेती के लिए बढ़ावा और बेहतर सुविधाएँ उपलब्ध कराना प्रमुख रूप से शामिल रहेगा।
पाँचों राज्यों में पुरे दमखम से चुनाव लड़ेगी "फौजी जनता पार्टी "FJP( FOUJI JANTA PARTY)







सोमवार, 28 नवंबर 2016

हद से ज्यादा कम हुई है नवजोत सिंह सिद्धू की चमक?- Khabar Aapki, Punjab Election

नवजोत सिंह सिद्धू को अरुण जेटली राजनीति में लेकर आए थे और सिद्धू के भाजपा से दूरी बनाने का कारण भी जेटली ही बने.
साल 2014 के आम चुनाव में अमृतसर के सांसद नवजोत सिंह सिद्धू का टिकट काटकर भाजपा ने अरुण जेटली को वहां से उम्मीदवार बनाया. सिद्धू ने जेटली के लिए चुनाव प्रचार नहीं किया. जेटली को चुनाव में हार का सामना करना पड़ा.
अप्रैल 2016 में भाजपा ने सिद्धू को राज्यसभा भेजा. लेकिन सदस्यता लेने के बाद सिद्धू राज्यसभा की जगह कॉमेडी शो में चले गए.
पंजाब में विधानसभा चुनाव की राजनीति गरमाई तो सिद्धू का नाम आम आदमी पार्टी (आप) से जोड़ा जाने लगा, हालांकि आप ने कहा कि इस बारे में अंतिम फ़ैसला नहीं हुआ है.
उन्होंने 18 जुलाई को राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया. इसके बाद उनकी पत्नी और अमृतसर से विधायक नवजोत कौर सिद्धू ने भी इस्तीफ़ा दे दिया.क्रिकेटर से नेता बने नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी डॉ. नवजोत कौर सिद्धू ने सोमवार को कांग्रेस का हाथ थाम लिया. सिद्धू की पत्नी के साथ पूर्व हॉकी खिलाड़ी परगट सिंह भी कांग्रेस में शामिल हो गए.सिद्धू ने कहा कि भाजपा ने उनसे राज्यसभा की सदस्यता के बाद पंजाब से दूर रहने और अकाली दल के खिलाफ नहीं बोलना को कहा था. उन्होंने स्पष्ट किया कि वो पंजाब से दूर नहीं रह सकते हैं, इसलिए भाजपा छोड़ने के लिए मजबूर हैं.
ऐसी अटकलें थीं कि नवजोत सिंह सिद्धू आप में शामिल होंगे. उनकी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ बैठकें भी हुईं, लेकिन बात किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पाई.
कहा जाता है कि सिद्धू आप से अपने लिए, पत्नी और अपने कुछ लोगों के लिए विधानसभा चुनाव की टिकट मांग रहे थे. लेकिन आप का संविधान एक ही परिवार के दो लोगों को टिकट देने से रोकता है.
हालांकि सिद्धू ने इन सभी दावों का खंडन किया.
इसके बाद उन्होंने पूर्व हॉकी खिलाड़ी परगट सिंह और लुधियान के दो विधायक भाइयों के साथ 'आवाज़-ए-पंजाब' के नाम से एक राजनीतिक मंच बनाया.
उनका कहना था कि उनका मंच चुनाव में उन लोगों का साथ देगा जो पंजाब के लिए कुछ अच्छा करना चाह रहे हैं. लेकिन उन्होंने उन लोगों का नाम नहीं बताया जिनका वो साथ देना चाहते हैं. इस तरह उन्होंने अपने विकल्पों को खुला रखा.
बाद में 'आवाज़-ए-पंजाब' में सिद्धू के साथ आए लुधियाना के दोनों विधायकों ने आप में शामिल होने का फ़ैसला किया.नवजोत कौर सिद्धू और परगट सिंह के बाद अब सिद्धू कांग्रेस में शामिल होंगे या नहीं, यह फ़िलहाल रहस्य बना हुआ है.
इस बीच ऐसी अटकलें भी हैं कि नवजोत सिंह सिद्धू को कांग्रेस कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफ़े से खाली हुई अमृतसर लोकसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव में उम्मीदवार बना सकती है. लेकिन कांग्रेस या सिद्धू ने इस पर आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा है.
पंजाब की राजनीति पर नज़र रखने वालों का मानना है कि जिस समय नवजोत सिंह सिद्धू की आम आदमी पार्टी से बातचीत चल रही थी, उस समय अगर वो आप में शामिल हो गए होते तो शायद उन्हें बड़ी सफलता मिलती.
लेकिन जिस तरीके से पिछले तीन-चार महीने में नवजोत सिंह सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर के अलग-अलग पार्टियों से बातचीत की ख़बरें छपी हैं, उन्हें देखकर ऐसा संदेश गया कि क्या वो मोल-भाव कर रहे हैं? इससे उनकी चमक कम हुई है.ऐसे हालात में, विधानसभा चुनाव से महज़ तीन महीने पहले, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के सिद्धू को अपने-अपने पाले में करने की इच्छा दोनों पक्षों के बीच कड़े मुकाबले का संकेत है.
विशेषज्ञों ये मान रहे हैं कि आज की स्थिति में पंजाब के अगले विधानसभा चुनाव में मुख्य मुक़ाबला कांग्रेस और आप में ही होने वाला है./
Khabar Aapki, Punjab Election

Comments system

Disqus Shortname